मनीष के हत्यारों के खिलाफ अपराध में बढ़ोतरी, आरोपियों को 12 जनवरी तक पीसीआर

0
8

गोंदिया. पुराने उधार के पैसों के विवाद में 6 जनवरी की रात 8 बजे इंजीनियरिंग कॉलेज, कुडवा के पास तीन बाप-बेटों ने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर मनीष उर्फ ईश्वर भालाधरे (30) की हत्या कर दी. इस मामले में गिरफ्तार चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद जिला सत्र न्यायालय ने उन्हें 12 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया. साथ ही आरोपियों के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.
शनिवार की रात करीब 8 बजे आंबेडकर वार्ड, कुड़वा निवासी प्रवीण उर्फ लक्की राजकुमार मेश्राम, मनीष भालाधेरे और राहुल बरेले इंजीनियरिंग कॉलेज के सामने संतोष मानकर के लकी रेस्टोरेंट गए थे. वहां उसके दोस्त प्रवेश मेश्राम से पुराने कर्ज को लेकर विवाद हो गया. इस विवाद में संतोष मानकर, लकी उर्फ लोकेश मानकर, पवन मानकर, जॉर्डन उर्फ​मोहित शेंडे और विधीसंघर्ष बच्चे ने मनीष भालाधरे की आंखों में मिर्च पाउडर फेंक दिया और लोहे की रॉड जैसे घातक हथियार से मनीष भालाधरे पर हमला कर दिया. कुल्हाड़ी, लोहे की रॉड आदि से उसे मार डाला. रामनगर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादंवि की धारा 302, 323, 143, 147, 148, 149, 504 के तहत मामला दर्ज किया था. फिर अनुसूचित जाति व जनजाति निवारण अधिनियम की धारा 3(2)(5), 3(2), (वी.ए) के तहत मामला दर्ज किया गया है. जिला सत्र न्यायालय ने आरोपी को 12 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है. जांच उपविभागीय पुलिस अधिकारी प्रमोद मड़ामे कर रहे हैं.