काँग्रेस बचाओ समिति का आंदोलन, जिलाध्यक्ष दिलीप बसोड़ पर कार्यवाई की मांग

0
26
वाढदिवसाच्या शुभेच्छा

गोंदिया -जिले की काँग्रेस कमेटी में इन दिनों गुटबाजी देखने को मिल रही है. चाहे वह कृषि उत्पन्न बाजार समिति के चुनाव हो या खरीदी बिक्री के चुनाव हो इन चुनावों में खुलकर काँग्रेस की गुटबाजी देखने को मिली है, काँग्रेस पक्ष के निर्णय को न मानते हुए जिलाध्यक्ष दिलीप बंसोड़ व जिला उपाध्यक्ष अशोक गुप्ता ने काँग्रेस पार्टी को नुकसान पहुंचाया है.जिला अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पर अनुशासनहीनता की कार्रवाई की जाए इस मांग को लेकर गोंदिया जिला काँग्रेस बचाओ समिति की ओर से शहीद भोला कांग्रेस भवन में १ जून से श्रृंखलाबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया गया है.
इस संदर्भ में जानकारी दी गई कि गोंदिया जिले में काँग्रेस पक्ष में गुटबाजी तैयार हो रही है. जिसका नुकसान कृषि उत्पन्न बाजार समिति व पंचायत समिति के चुनाव में देखने को मिला है. गोरेगांव में काँग्रेस में दो गुट तैयार होकर एक गुटने भाजपा से हाथ मिला कर चुनाव लड़ा जिसमें काँग्रेस के उम्मीदवारों की हार हुई. इसी प्रकार गोंदिया कृषि उत्पन्न बाजार समिति में चाबी संघटन से साथ मिलकर काँग्रेस ने  चुनाव लड़ा, लेकिन जिला उपाध्यक्ष अशोक गुप्ता ने काँग्रेस पक्ष के निर्णय को न मानते हुए  अपने पसंद के ही  उम्मीदवार को उपसभापति बनाया है.काँग्रेस बचाओ समिति का आरोप है कि जब से दिलीप बंसोड जिला अध्यक्ष बने तब से काँग्रेस में गुटबाजी हो रही है. इतना ही नहीं तो काँग्रेस के जिन नेताओं ने काँग्रेस के निर्णय को ना मानते हुए भाजपा के साथ हाथ मिलाया है ऐसे नेताओं पर दिलीप बंसोड़ द्वारा कार्रवाई नहीं की जा रही है. जिस वजह से गोंदिया जिले की काँग्रेस टूट रही है, कांग्रेस बचाओ इस मुद्दे को लेकर शहीद भोला जिला कांग्रेस भवन में जिला कांग्रेस बचाओ समिति की ओर से श्रृंखलाबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया गया है.यदि कार्रवाई नहीं की जाती तो काँग्रेस के निष्ठावान कार्यकर्ता अपना इस्तीफा सौंप देंगे. इस तरह की जानकारी आंदोलन में शामिल गोंदिया काँग्रेस अध्यक्ष सूर्य प्रकाश भगत, शहर अध्यक्ष जहीर अहमद, महिला अध्यक्ष अनीता मुनेश्वर, सेवा दल के अध्यक्ष राजीव ठकरेले , डाँ विवेक मेंढे,महासचिव अरुण गजभिए, रंजीत गणवीर, एनएसयूआई के हरीश तुलसकर,आलोक मोहंती, किसान जिलाध्यक्ष जितेश राणे,पूर्व उपसभापति चमण बिसेन,महासचिव जीवनलाल शरणागत आदि ने दी है.