केंद्रीय बल की एक बटालियन नक्सलवाद को दूर करने होगी बालाघाट-मंडला में तैनात

0
234
NDI08-cesexe-01-ct˜tDtx> yr;rh¢; füUŠeg rhsJo c˜ fUe stlfUthe =u;u ytRose>

गोंदिया(खेमेंद्र कटरे)ः मध्यप्रदेश के बालाघाट व मंडला जिले में कान्हा के जंगल से होते हुए छत्तीसगढ़ से नक्सली अपनी तादाद लगातार बढ़ा रहे हैं। यहां नक्सली लगातार जंगल के रास्तों से होते हुए गांवों में पहुंचकर ग्रामीणों की बैठक लेकर पुलिस को निशाना बनाने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं ग्रामीणों को भी लगातार परेशान कर रहे हैं। नक्सलियों की बढ़ती हुई तादाद और उनके मूवमेंट को अब तोड़ने के लिए बालाघाट को केंद्रीय रिजर्व बल मिल गया है जो जल्द ही बालाघाट के साथ मंडला जिले के नक्सल प्रभावित इलाकों में तैनात होगा। जिससे न सिर्फ नक्सलवाद की कमर टूटेगी, बल्कि नक्सल प्रभावित गांवों में ग्रामीण व पुलिस के बीच संवाद भी बढेगा।

15 सौ होंगे बटालियन में जवान

पुलिस महानिरीक्षक केपी वेंकटाश्वर राव ने बताया कि मध्यप्रदेश के नक्सल प्रभावित बालाघाट व मंडला जिले में बस्तर के नक्सली लगातार कबीरधार से लेकर भौरमदेव अभ्यारण के रास्ते लगातार दलम का विस्तार करने में जुट हुए है। वहीं पुलिस भी लगातार सर्चिंग अभियान, ग्रामीणों से संवाद कर नक्सली मूवमेंट को रोकने का प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि नक्सली उन्मूलन के प्रयास को ओर बढ़ाने के लिए बालाघाट पुलिस को केंद्रीय रिजर्व बल की एक और बटालियन मिली है। जिसमें 15 सौ जवान का अतिरिक्त बल मिलेगा।

ये दल लगातार बढ़ा रहे तादाद

बालाघाट जिले के साथ ही मंडला जिले में छत्तीसगढ, महाराष्ट्र के रास्ते नक्सलवाद मूवमेंट बढ़ा रहा है। यहां टांडा दलम, मलाजखंड, परसवाड़ा दलम, कान्हा-भौरम दलम, केबी डिवीजन, विस्तार दलम, खटिया-मोचा दलम, देवरी दलम समेत अन्य दल बनाकर नक्सली लगातार गांवों में घुसकर गांवों के ग्रामीणों को बरगला रहे है। वहीं नक्सली दैनिक उपयोग की सामग्री जुटा सके इसके लिए भी लगातार ग्रामीणों पर दबाव बना रहे है। साथ ही पुलिस को निशाना बना सके इसके लिए भी लगातार घात लगा रहे है।

बालाघाट में बल की वर्तमान स्थिति

-जिला पुलिस बल-करीब ढाई हजार जवान।

-सीआरपीएफ-एक हजार जवान।

-हॉकफोर्स-एक हजार जवान।

बढ़ेगा बल

-केंद्रीय रिजर्व बल एक ओर बटालियन मिलने से बालाघाट जिले के सुरक्षा बल में और वृद्धि होगी। करीब छह हजारों जवानों का बल बालाघाट पुलिस रेंज में होगा

इनका कहना…. नक्सलवाद उन्मूलन के लिए बालाघाट को केंद्रीय रिजर्व बल की एक ओर बटालियन मिली है। यह बटालियन बालाघाट के साथ ही मंडला के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तैनात की जाएगी। अतिरिक्त बल मिलने से नक्सलियों के मूवमेंट को रोकने में और भी अधिक सफलता मिलेगी। केपी वेंकटाश्वर राव, आईजी, बालाघाट।