साहित्य मंडल का दीपावली मिलन…..हास्य की फुलझड़ियों एवं गीतों ने समा बांधा

0
9
वाढदिवसाच्या शुभेच्छा

गोंदिया -दीप पर्व दीपावली दीपों की जगमगाहट से जहाँ अंधकार को हर कर प्रकाश की ओर बढ़ने का संकेत मानव को देती है वहीं कवियों को भी अपनी लेखनी के पराक्रम को प्रदर्शित करने का अवसर प्रदान करती है। कवियों की लेखनी के उस पराक्रम को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से भिन्न भाषी साहित्य मंडल ने अपनी मासिक कवि-गोप्ठी के क्रम में नवम्बर माह की कवि-गोप्ठी दीपावली मिलन समारोह के रूप में वरिष्ठ कवि श्री प्रकाश मिश्रा के कुशल संयोजन में शनिवार दि.18 नवम्बर को ओबीसी रेलवे कर्मचारी महासंघ के कार्यालय रेलवे कालोनी में आयोजित की।
अध्यक्षता वरिष्ठ कवि श्री रमेश शर्मा ने की। बतौर प्रमुख अतिथि पं. बजरंगलाल शर्मा मंचासीन थे।
संचालन का कुशल दायित्व वरिष्ठ कवि श्री छगन पंचे ने निर्वाह किया।
अतिथि स्वागत श्री प्रकाश मिश्रा, ओमप्रकाश शर्मा चुलेट एवं किसनलाल सिंह गुरु ने किया।माँ सरस्वती की पूजा आराधना के पश्चात गीतकार कवि श्री शशि तिवारी ने सरस्वती वंदना कर कार्यक्रम का आगाज किया। कवि-गोप्ठी में युवा कवि चन्द्रप्रकाश बनकर, प़ोवारी एवं हिन्दी भाषा के कवि चिरंजीव बिसेन,हास्य कवि सुरेन्द्र जगने, प्रतिकात्मक शैली के जाने पहचाने ग़जल गीतकार सुरेश बंजारा, ओज के हस्ताक्षर किसनलाल सिंह गुरु, प्राकृतिक एवं रहस्यवादी गीतकार प्रकाश मिश्रा, प्रसिद्ध व्यंग्य एवंम गीतकार शशि तिवारी, ग़ज़ल, गीत, व्यंग्य के रचयिता छगन पंचे छगन एवं वरिष्ठ कवि संगीतकार रमेश शर्मा ने अपनी सरस रचनाओं से श्रोताओं को आनंदित कर दिया। अध्यक्ष एवं अतिथि ने साहित्य मंडल की सतत जारी मासिक गोष्ठी की श्रंखला पर मंडल की सराहना की।काव्यात्मक लहजे में आभार प्रदर्शन मंडल के सचिव मनोज एल जोशी ने किया। इस अवसर पर श्री कचरूलाल शर्मा, पं. विनोद अग्निहोत्री, राजू माहुले भी उपस्थित थे। सफलतार्थ ऋतुराज मिश्रा, दीपांशु सिंह, मनीष चौरागड़े, शुभम तिवारी, करन अग्रवाल, आदि ने सहयोग किया। आगामी मासिक गोष्ठी दिसम्बर में वर्ष 2023 को बिदाई के रूप में होगी।