गोंदिया जिले में एशियाई जलपक्षी गणना कल

0
7
वाढदिवसाच्या शुभेच्छा

गोंदिया. गोंदिया जिला तालाबों का जिला है. तालाब, पनघट क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के प्रवासी पक्षियों के साथ-साथ स्थानीय पक्षी भी सर्दियों में रहते हैं. सेवा संस्था गोंदिया और वन विभाग गोंदिया उन प्रवासी और स्थानीय पक्षियों की गणना करते हैं जो हर साल पनघट क्षेत्र का दौरा करते हैं. इस वर्ष भी एशियाई जलपक्षी गणना 2024 पहल के तहत जिले की परसवाड़ा, झिलमिली, सिवनी, छिपिया तालाबों पर यह गणना होने जा रही है. यह गणना उपवनसंरक्षक प्रमोद पंचभाई, सेवा संस्था अध्यक्ष सावन बहेकार के मार्गदर्शन में होंगी. साथ ही मड ऑन बूट्स प्रोजेक्ट लीडर व सेवा सदस्य कन्हैया उदापुरे, शशांक लाडेकर, वनपरिक्षेत्र अधिकारी दिलीप कौशिक के उपस्थिति में सेवा संस्था स्वयंसेवी, पक्षी निरीक्षक, पक्षी मित्र, सारस मित्र के साथ एशियाई जलपक्षी गणना 21 जनवरी को की जाएगी. प्रवासी पक्षी, उनके वितरण, स्थिति और सामान्य रुझानों के बारे में जानकारी एकत्र करने के लिए जनगणना आयोजित की जाती है. हर साल यह गतिविधि एनजीओ पारशिमित्र और वन विभाग के माध्यम से पूरे देश में आयोजित की जाती है. देश में यह पहल 1987 में वेटलैंड इंटरनेशनल और बॉंबे नेचुरल हिस्ट्री सोसाइटी द्वारा शुरू की गई थी. यह जानकारी सेवा अध्यक्ष सावन बाहेकर ने दी.